Breaking

Wednesday, 13 May 2020

CoronaVirus Bihar: ट्रेनों के साथ बढ़ी संक्रमण की रफ्तार- पांच दिनों में ही दो की मौत, 350 से अधिक नए मरीज



पटना, जेएनएन। बिहार में कोरोना का संक्रमण विस्‍फोटक हो गया है। राज्‍य में पांच दिनों के अंदर ही तीन सौ से अधिक मामले मिले हैं। अप्रवासी कामगारों को लेकर आने वाली ट्रेनों की संख्या के साथ ही कोरोना संक्रमण के मामले भी बढ़े हैं। जिन जिलों में ज्यादा ट्रेनें आईं वहां संक्रमितों की संख्या भी ज्यादा है। अप्रवासी कामगारों की बात करें तो अभी तक मिली जानकारी के अनुसार 190 मामले उनसे जुड़े हैं। हालांकि, ट्रेन से उतरने के पश्चात थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही उन्‍हें अपने जिलों के लिए रवाना किया गया, पर इस प्रक्रिया का कोई खास परिणाम नहीं निकला।

पांच दिनों में मिले तीन सौ नए मामले, दो की मौत

बीते पांच दिनों की बात करें तो बुधवार को एक कोरोना पॉजिटिव महिला की मौत हुई है। जबकि, अभी तक 29 नए मामले मिले हैं। इसके पहले मंगलवार को अब तक के सर्वाधिक 118 मरीज मिले थे। सोमवार (11 मई) को 54 संक्रमित मिले थे। रविवार (10 मई) को 78 संक्रमित मिले तथा एक की मौत हो गई। इसके पहले शनिवार (09 मई) को भी 49 मामले मिले थे। बीते पांच दिनों के दौरान मिले नए मामलों का आंकड़ा तीन सौ तक पहुंच गया है। इस दो मरीजों की मौत भी हुई है। राज्‍य में अभी तक कुल 879 संक्रमित मिले हैं, जिनमें अप्रवासी कामगारों की का आंकड़ा 190 का है।

बेगूसराय में मिले सर्वाधिक संक्रमित कामगार

अप्रवासियों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के आने का सिलसिला पांच मई से आरंभ हुआ। पांच से 12 मई के बीच एक दर्जन ट्रेनें बरौनी और खगडिय़ा पहुंच चुकीं थीं। इस बात को केंद्र में रख अगर संक्रमितों के आंकड़े को देखें तो बेगूसराय से सर्वाधिक 26 अप्रवासी कामगार संक्रमित मिले हैं।

नालंदा दूसरे तो पटना व सहरसा तीसरे स्‍थान पर

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से नालंदा, नवादा और पटना जिले में बड़ी संख्या में अप्रवासी कामगार पहुंचे हैं। अप्रवासी कामगारों में संक्रमण के लिहाज से 15 मामलों के साथ नालंदा दूसरे तो 11-11 मामलों के साथ पटना व सहरसा तीसरे स्‍थान पर हैं। पटना के ग्रामीण इलाकों में संक्रमितों की जो संख्या बढ़ी है, वह श्रमिक ट्रेनों का ही असर हैै।

पांच मई से लगातार पहुंच रहीं श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनें

श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनों की बात करें तो ये पांच मई से लगातार पहुंच रही हैं। नालंदा, नवादा और पटना के अप्रवासी कामगार मुख्य रुप से दानापुर आने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से उतरे हैं। एक ट्रेन बिहारशरीफ भी पहुंची। 12 मई को बरौनी के लिए दो व दानापुर के लिए ट्रेन आयी। वहीं 11 मई को दानापुर के लिए तीन व बरौनी के लिए एक ट्रेन आयी थी। 10 मई को भी दानापुर के लिए एक ट्रेन आयी। सात मई को भी दानापुर के दो व बिहारशरीफ के लिए राजस्थान से एक ट्रेन आयी। बुधवार को भी 28 ट्रेनें बिहार पहुंच रही हैं।


No comments:

Post a comment